विडियो: 15 दिनों से फरार भा!ज!पा नेता गिर!फ्तार, 10 साल तक ना!बालि!ग छात्रा से किया दु!ष्क!र्म

233

नाबा!लिग से 10 साल तक दु!ष्कर्म करने के आ!रो!पी भाजपा नेता और आर्थोपैडिक सर्जन डॉ. पीयूष सक्सेना को विदिशा पुलिस ने भोपाल के शाहजहांनाबाद इलाके से गिर!फ्ता!र कर लिया है। पुलिस को चकमा देने के लिए आ!रोपी ने अपना पूरा हुलिया बदल लिया था.

डॉक्टर को गिर!फ्ता!र करने के लिए पुलिस ने पिछले 19 दिन में 6 बार छापामार कार्र!वाई की। मुखबिर से सूचना मिलने पर मंगलवार को सुबह भोपाल में डॉक्टर की घेराबं!दी की गई। आरोपी डॉक्टर का विदिशा में शांता स्मृति नाम से फ्रैक्चर हाॅस्पिटल है। उसकी गिनती जिले के बड़े भा`ज`पा नेताओं में होती है.

चुनावी समय में फरा!र होने से पहले वो भाजपा मीडिया सेंटर का काम देख रहा था। दुष्क!र्म का मा!म!ला दर्ज होने के बाद भा`ज`पा ने उसे पार्टी से निकला दिया था। मुखबिर की सूचना के बाद विदिशा पुलिस ने मंगलवार को सुबह करीब 9 बजे भोपाल के शाहजहांनाबाद क्षेत्र में एक चाय-नाश्ते की दुकान से गिर!फ्ता!र कर लिया है। पुलिस ने डॉक्टर को 24 घंटे के लिए रि!मां!ड पर लिया है.

हो गया था फरा!र: सिविल लाइंस थाना पुलिस ने 17 नवंबर को उसके खि!ला!फ एक युवती की शिकायत पर दुष्क!र्म, पास्को एक्ट और आईटी एक्ट की विभिन्न धाराओं में प्रकरण दर्ज किया था। इसके बाद से ही डॉक्टर विदिशा से फरा!र हो गया था और पुलिस उसकी तला!श में जुटी हुई थी.

फरार डॉक्टर को गिर!फ्ता!र करने अथवा सरेंडर कराने के लिए पुलिस डा.पीयूष सक्सेना के बैंक खाते सी!ज करवा चुकी थी। इसके अलावा उसका पासपोर्ट भी नि!र!स्त कर दिया गया था। अब उसकी अचल सं!पत्ति कु!र्क करने की तैयारी चल रही थी। डॉक्टर के क!ब्जे से नहीं मिला मोबाइल: सिविल लाइंस थाना टीआई निरंजन शर्मा ने बताया कि मंगल!वार को सुबह करीब 9 बजे जब पुलिस टीम ने डॉक्टर को गि!रफ्ता!र किया तो उस समय उसके पास मोबाइल सेट मौजूद नहीं था.

इस मा!मले में पुलिस पूछताछ में डॉक्टर ने बताया है कि उसका मोबाइल कहीं गि!र गया है। उसके पास मोबाइल नहीं है। गौरतलब है कि डॉक्टर ने अपने मोबाइल से यौ!न शो!ष!ण से पी!ड़ि!त युवती को अ!श्ली!ल! फोटो भी भेजे थे। पुलिस को चक!मा देने के लिए बद!ला था हुलिया : फरार डॉक्टर को गि!र!फ्ता!र करने की जानकारी मिलते ही मंगलवार को दोपहर बड़ी संख्या में मीडियाकर्मी सिविल लाइंस थाने पहुंच गए थे.

यहां डाक्टर से पूछताछ चल रही थी। पुलिस को चकमा देने के लिए उसने अपना हु!लिया बदल लिया था। उसकी दाढ़ी काफी बढ़ी हुई थी। सिर मे कैप लगी हुई थी। इस कारण उसे आसानी से पहचानना मु!श्कि!ल हो रहा था। डॉक्टर को पक!ड़!ने पुलिस भोपाल में कर रही थी सर्चिंग : सिविल लाइंस थाना प्रभारी निरंजन शर्मा ने बताया कि फरार डॉक्टर को पकड़!ने के लिए भोपाल में पुलिस लगातार सर्चिंग कर रही थी.

इसके लिए भोपाल में मुखबिरों का जा!ल फै!लाया गया था। 3 पुलिस अधिकारियों की टीम भी बनाई गई थी। इसमें एसआई अनूप नामदेव, एसआई रचना मिश्रा और हेड कांस्टेबल अनिल तोमर आदि शामिल हैं। मंगलवार को सुबह करीब 9 बजे पुलिस टीम को मुखबिर ने सूचना दी थी कि फरा!र डाक्टर भोपाल के शाहजहांनाबाद में एक चाय-नाश्ते की गु!मठी के पास बैठा हुआ है.

इस सूचना पर पुलिस ने तत्काल डाॅ.पीयूष सक्सेना की घे!राबं!दी कर उसे हिरासत में ले लिया। हाॅस्पिटल में लगे हैं ताले और परिवार भी है ला!पता : शहर के शेरपुरा स्थित डा.पीयूष सक्सेना के शांता फ्रेक्चर हास्पिटल और घर में ता!ले लगे हुए हैं। उसका पूरा परिवार विदिशा से गा!यब है। डा.सक्सेना की पत्नी रुचि सक्सेना नगरपालिका की पार्षद हैं.

डॉक्टर पर यौन शोषण का प्रकरण दर्ज होने के बाद भाजपा ने डा.पीयूष सक्सेना को पार्टी से निष्कासित कर कर दिया था। इस मा!मले में टीआई निरंजन शर्मा का कहना है कि डाक्टर का परिवार संभवत: भोपाल में कहीं रह रहा है.

छापामारी के दौरान घर में केवल एक छोटा बच्चा मिला था। अन्य परिजन अभी सा!मने नहीं आए हैं। आगे… दु!ष्क!र्म में 7 साल व पास्को एक्ट में हो सकता है आ!जीवन का!रावा!स : दु!ष्क!र्म और पास्को एक्ट में आ!रो!पी की ज!मान!त खा!रिज भी हो सकती है। इसके अलावा धा!रा 376 दु!ष्क!र्म के मा!मले में 7 साल तक की सजा हो सकती है.

परिस्थितियों की गं!भीर!ता को देखते हुए 10 साल तक की सजा भी हो सकती है। इसके अलावा आर्थिक जुर्माना अलग से हो सकता है। इसके अलावा पास्को एक्ट की धारा 3/4 कु!क!र्म के मा!मले में 7 साल की स!जा के साथ उम्रकैद तक की स!जा हो सकती है। आर्थिक जुर्माना भी किया जा सकता है। अ!श्ली!ल फोटो भेजने के मा!म!ले में आई`टी एक्ट की धा!रा में 5 साल तक की सजा और 10 लाख तक के आ!र्थि!क जु!र्माने का प्रावधान है.

Facebook Comments
Loading...