तीन तलाक बि!ल पर असदुद्दीन ओवैसी ने मो!दी सरकार पर बोला ती!खा ह!म!ला

566

लोकसभा में गुरुवार को तीन तलाक बिल पर जो!रदा!र ब!ह!स हुई। इस दौरान तकरीबन समूचे विपक्ष ने बिल का विरो!ध करते हुए इसे सेलेक्ट कमेटी को भेजने की मांग की। AIMIM प्रमुख अ!सदुद्दीन ओवैसी ने बहस में हिस्सा लिया और सरकार पर ती!खा ह!म!ला बोला। ओवैसी ने कहा- सरकार ने इस बिल पर कि!सी भी पक्ष से बात नहीं की है।

जो लोग वि!रोध कर रहे हैं उनकी तो छोड़िए, जिनके लिए बिल लाया जा रहा है उनसे तक बात नहीं की गई है। उन्हों!ने कहा, आपने (सरकार) समलैं!गिकता को अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया और तीन तलाक को आ!प!रा!धिक क!रार दे दिया है। क्योंकि यह हमारे खि!ला!फ इस्तेमाल होगा।

लैंगिक अल्पसंख्यकों को धारा 377 में अपनी प!संद की छू!ट दी गई, तब धा!र्मि!क अ!ल्प!सं!ख्यकों को क्यों नहीं? ओवै!सी ने कहा, अगर आपकी आस्था आपकी आ!स्था है, तो मेरी आस्था भी मेरी आस्था होनी चाहिए। आपका (सरकार) इरा!दा सही नहीं है। आप अपना कानून ला सकते हैं लेकिन हम अपने धर्म को ज!ब्त नहीं होने देंगे।

उन्हो!ने कहा, इस बिल के कई प्राव!धान असं!वै!धानिक हैं। इस बिल को संयुक्त चयन स!मिति को भेजना चाहिए। हमारे मुल्क़ में तला!क़ के कानून में अगर किसी हिं!दू को एक साल की सज़ा का प्रा!वधान है तो मुसलमानों के लिए ये स!ज़ा तीन सा!ल क्यों रखी गई है? क्योंकि इस!का इस्तेमाल हमारे ख़ि!ला!फ़ होगा। आपका कानून ध!र्म के ख़िला!फ़ है।

आप मुस्लिम औरतों के लिए नहीं काम कर रहे हैं। पूरे मुल्क में मी-टू अभि!यान हुआ था। कहां गए वो मंत्री जो पिछली बार ख!ड़े थे। कहां गए वो। आप उस आदमी को पार्टी में जगह देते हैं और आप लोग हमको आइना दिखा रहे हैं? बिल पास होने के बाद AIMIM प्रमु!ख ने कहा, ‘ये कानून सिर्फ और सिर्फ मु!स्लिम महिलाओं को रोड पर लाने के लिए है, उनको बर्बाद और क!मजो!र करना है और जो मुस्लिम म!र्द हैं उनको जे!ल में डालने का है। इस कानून का गल!त इस्ते!मा!ल होगा, आप देखना।’

Facebook Comments
Loading...