राजस्थान,तेलंगाना के स!ट्टा बाज़ार में कां!ग्रेस की रार, बी`जे`पी को लगा सद`मा

297

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के आ!खि!री दौर में राजस्थान और तेलंगाना में 7 दिसंबर को होने वाले मतदान के लिए बुध!वार शाम 5 बजे चुनाव प्रचार ख!त्म हो गया। दोनों राज्यों में अब 7 दिसंबर को वोट डा!ले जाएंगे और नतीजे बाकी तीन राज्यों के साथ 11 दिसंबर को आएंगे.

शुक्र!वार को राजस्थान की 200 में से 199 और तेलंगाना की 119 सीटों पर वोट डाले जाएंगे। राजस्थान की एक सीट पर चुनाव ल!ड़ रहे बीजेपी प्रत्याशी की मृ!त्यु की वजह से वहां मतदान स्थगित कर दिया गया है।चु!नाव प्रचार के आखिरी दिन इन दोनों राज्यों में चुनाव लड़ रहीं सभी पार्टियों ने अपनी पूरी ता!क!त झों!क दी.

बी`जे`पी की तरफ से जहां पीएम मोदी ने राजस्थान में ताबड़तो!ड़ रैलियां की, वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गां!धी प्रचार के आखिरी दिन तेलंगाना की जनता के बीच रहे। पी`एम मोदी ने अपनी रैलियों में बी`जे`पी सरकार बनने का दा!वा जरूर किया, लेकिन राज्य में कांग्रेस का प!ड़!ला भा!री नजर आ रहा है.

राजस्थान का सट्टा बाजार वसुंधरा राजे सरका!र की वापसी पर भरोसा नहीं कर रहा है। स!ट्टा बाजरे के ट्रेंड बता रहे हैं कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार आ रही है। मिली जा!नकारी के अनुसार स!ट्टा बाजार में इस समय 200 सीटों वाली राज!स्थान विधानसभा में कांग्रेस को 125 से 127 सीटों पर बरा!बरी का भाव मिल रहा है.

यानी सट्टा बाजार की माने तो कां!ग्रेस आसानी से बहुमत ले आएगी। राज!स्थान में बी`जे`पी और कां!ग्रेस के बीच सी!धा मुकाब!ला है। यहां कांग्रेस ने 195 तो बी`जे`पी ने सभी सीटों पर उम्मी!दवार मै!दान में उ!तारे हैं। इसके अलावा राष्ट्रीय लोक!तांत्रिक पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और समाज!वादी पार्टी सहित कई छोटे-मोटे दलों के अलावा निर्द!लीयों सहित 2274 उम्मीद!वार चुनाव मैदान में हैं.

चुनाव में मुख्य!मंत्री वसुंधरा राजे, पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रदेश कां!ग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट, पूर्व केन्द्री!य मंत्री गिरिजा व्यास, सीपी जोशी समेत चार सांसदों, मंत्रियों और कई विधा!यकों का भा!ग्य त!य होगा। सीएम वसुंधरा राजे के सामने जहां हाल ही में बीजेपी छोड़क!र कांग्रेस में आए मान!वेन्द्र सिंह हैं, वहीं गृहमंत्री गुलाब चंद कटा!रिया के सामने पूर्व मंत्री गिरिजा व्यास हैं.

जबकि प्रदेश कां!ग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट के सामने बी`जे`पी ने युनुस खान को उता!रा है। राज्य में चुनाव प्रचार में बी`जे`पी सबसे आगे रही, जिसकी 222 से ज्यादा रैलियां और सभाएं हुईं और खुद पी`एम मोदी ने आखि!री दो दिन राजस्थान में अपनी पूरी ता!कत लगा दी.

लेकिन प्रचार के आखिरी दिन भी सट्टा बाजार में बी`जे`पी का भा!व नहीं ब!ढ़ा और ताजा आंकड़ों में बी`जे`पी के लिए सिर्फ 56 से 58 सीटों पर बराबरी का भा!व चल रहा है। इससे साफ पता लगता है कि राजस्थान में बी`जे`पी के लिए वापसी का रास्ता का!फी मुश्कि!ल है और कां!ग्रेस की ह!वा है.

वहीं तेलं!गाना की बात करें तो यहां टी`आर`एस और कांग्रेस के नेतृत्व वाले महागठ!बंधन के बीच क!ड़ा मु!काब!ला है। जबकि बीजेपी यहां अपने अस्तित्व के लिए संघर्ष कर रही है। कांग्रेस के नेतृत्व वाले महाग!ठबंधन में कांग्रेस, टी`डी`पी, सी`पी`आई, तेलंगाना जन समिति (टी`जे`एस) और बीजेपी शामिल हैं.

वहीं राज्य की सत्तारूढ़ टी`आर`एस को इस बार ओवैसी का समर्थन मिलने की बात कही जा रही है। तेलंगाना में टी`आर`एस सरकार के खि!लाफ लहर मजबू!त है और कांग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन को लोगों का काफी समर्थन मिल रहा है। प्रचा!र के आखिरी दिन कां!ग्रेस अध्यक्ष रा!हुल गांधी तेलं!गाना में ही रहे.

उन्होंने चुनाव प्रचा!र के बाद पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि वे चाहते हैं कि ते!लंगाना की सच्ची आवाज ही इस बार तेलंगाना की सरकार चुने। इस दौ!रान उन्होंने कहा कि किसानों की समस्या देश की समस्या है। जहां तक आत्म!ह!त्याओं की बात है चाहे किसान हों या युवा हों, उनको कोई रास्ता नहीं दिख रहा है। युवा रोजगार ढूंढ-ढूंढ कर थक गया है और किसान अपनी बदहा!ली से परेशा!न है। इस चुनाव में राज्य के लोग अपने लिए वोट डालेंगे.

Facebook Comments
Loading...