यू`पी में भाजपा को बड़ा झट!का, दलित सां!सद ने इस्ती!फे के पीछे का खो!ला राज़

198

भारतीय जनता पार्टी सां!सद सा!वित्री बाई फु!ले ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्ती!फा दे दिया। उन्होंने भाजपा पर गंभी!र आरो!प लगाते हुए कहा कि भा`ज`पा देश को मनुस्मृ!ति से चलाना चाहती है। उन्होंने कहा कि भा`ज`पा द!लित, पिछ!ड़ा व मु!स्लिम विरो!धी है और आर!क्ष!ण ख!त्म करने की साजिश र!च रही है.

इसके साथ ही सावित्री बाई ने भाजपा पर देश के संविधान को बदलने की कोशिश करने का भी आ!रोप लगाया। बता दें कि बीते दिन ही बहराइच से सासंद सावित्री!बाई फुले भा`ज`पा के खि!लाफ आए दिन बयान देती रही हैं। वहीं देश भर में चल रहे हनु!मान जी की जा!ति के वि!वाद में कू!दते हुए सी`एम योगी आदित्य!नाथ के दा!वे का समर्थन किया था.

सां!सद ने कहा था कि हनुमान जी द!लित थे। हालांकि उन्होंने योगी के बया!न से बढ़कर बोलते हुए कहा कि हनुमान जी म!नुवादि!यों के गु!लाम थे। सावि!त्रीबाई फुले का जन्म 3 जनवरी 1831 को हुआ था। इनके पिता का नाम खन्दो!जी नेवसे और माता का नाम लक्ष्मी था। सावित्री!बाई फुले का विवाह 1840 में ज्योतिबा फुले से हुआ था.

सावित्री!बाई फुले भारत के पहले बालि!का विद्यालय की पहली प्रिंसिपल और पहले कि!सान स्कूल की संस्थापक थीं। महात्मा ज्योति!बा को महा!राष्ट्र और भारत में सामाजिक सुधार आं!दोलन में एक सबसे महत्व!पूर्ण व्यक्ति के रूप में माना जाता है। उनको महिलाओं और द!लित जा!तियों को शि!क्षित करने के प्रया!सों के लिए जाना जाता है.

ज्योति!राव, जो बाद में ज्यो!तिबा के नाम से जाने गए सावि!त्रीबाई के संर!क्षक, गुरु और समर्थक थे। सावि!त्रीबाई ने अपने जीवन को एक मिशन की तरह से जीया जिसका उद्दे!श्य था वि!धवा वि!वाह करवाना, छुआछू!त मि!टा!ना, महिलाओं की मु!क्ति और दलित महिलाओं को शि!क्षि!त बनाना। वे एक कवि!यत्री भी थीं उन्हें मराठी की आदिक!वियत्री के रूप में भी जाना जाता था.

Facebook Comments
Loading...