डी.जी.पी. को दी गयी चि!ट्ठी, आर एस एस शाखा पर प्र!तिबन्ध.., जाने मामला

201

हाल ही में खबर सामने आई थी कि नोएडा में उत्तर प्रदेश पुलिस ने एक अजी!बोगरीब फरमान जारी किया है. इस फरमान के मुताबिक नोएडा में प्राइवेट कंपनियों को यह कहा गया है कि वह अपने कर्मचारियों को खुले में नमाज जाने की सार्व!जनिक जगहों पर न!माज़ करने से रोके नहीं तो इसके लिए उन्हें दंड दिया जाए!गा.

आ!पको बता दें कि इस फरमान के पीछे यूपी !पुलिस ने यह कारण दिया है कि लोकसभा चु!नाव 2019 से पहले इस तरह की पब्लिक मी!टिंग्स माहौल को खराब कर सकती हैं. इसलिए खुले में न!माज करने पर रोक लगाई जा रही है आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश पुलिस के इस अजी!बोगरीब फरमान के बाद विप!क्षी दलों द्वारा इसका विरोध शुरू हो चुका है.

इस मा!मले में कांग्रेस के नेता संपूर्णानंद ने बी.जे.पी. को चिट्ठी लिखी है यह मांग की है कि उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय स्वयंसेव!क संघ की लगने वाली शाखाओं पर भी रोक लगाई जानी चाहिए. यहां पर धर्म के आधार पर अलग-अलग नियमों को क्यों चलाया जा रहा है. अगर खुले में नमा!ज करने पर रोक लगाई गई है तो यही नियम आर एस एस की शाखाओं पर ला!गू क्यों नहीं किया जा रहा.

आर!ए!स!एस की शाखाओं को भी करें बैन

गौरतलब है कि 25 दिसंबर के दिन अचानक यह मा!मला सामने आया कि नोएडा के सेक्टर 58 में स्थानीय लोगों की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए यूपी पुलिस में मुस्लिम समु!दाय के लोगों को नमाज पढ़ने से रोक लगा डाली है.

कल इस माम!ले में जुम्मे की नमाज से पहले वहां पर सुरक्षा काफी बढ़ा दी गई थी प्रशासन ने यहां पर मुस्लिम समुदाय के लोगों के एकजुट होने से पहले ही पार्क में पानी भरवा दिया था कि यहां पर बै!ठकर कोई भी नमाज अदा ना कर सके.

इसके साथ ही पार्क के नज!दीक पुलिस को भी तैनात किया गया. गौरतलब है कि साल 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी एक बार फिर सांप्रदायिक सौहार्द खराब करने का माहौल बना रही है ताकि धर्म के आधार पर एक बार फिर लोगों से वोट हासिल की जा सके.

Facebook Comments
Loading...